Friday 19th of July 2024

UP: अयोध्या आने वाले श्रद्वालुओं को किसी भी प्रकार की न हो असुविधा- मुख्य सचिव

Reported by: PTC News उत्तर प्रदेश Desk  |  Edited by: Rahul Rana  |  July 07th 2024 08:43 PM  |  Updated: July 07th 2024 08:43 PM

UP: अयोध्या आने वाले श्रद्वालुओं को किसी भी प्रकार की न हो असुविधा- मुख्य सचिव

ब्यूरो: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश के मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह की अध्यक्षता में कांवड़ यात्रा, श्रावण झूला मेला-2024 की तैयारियों के सम्बंध में विकास प्राधिकरण सभागार में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। समीक्षा के दौरान पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश प्रशांत कुमार भी मौजूद रहे। मुख्य सचिव ने बैठक के दौरान निर्देश दिये कि अयोध्या में आने वाले श्रद्वालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने पाये इसका जिला प्रशासन एवं पुलिस विभाग विशेष रूप से ध्यान रखें। 

अतिरिक्त 15 सौ सफाई कर्मचारियों की व्यवस्था

उन्होंने कहा कि सावन झूला मेला क्षेत्र एवं कांवड़ यात्रा मार्गो पर पर्याप्त साफ सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय इसके लिए शासन द्वारा 1500 अतिरिक्त सफाई कर्मचारियों की व्यवस्था की जा रही है तथा मार्गो के गड्ढे, खराब सड़के, मार्ग जलभराव आदि को भी यथाशीघ्र सही कराया जाय और इसका वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा निरीक्षण कर सुनिश्चित कर लिया जाय, की सभी मार्ग पैदल यात्रा करने वालों के लिए अनुकूल है और यह व्यवस्था अयोध्या के साथ साथ आसपास के जनपदों में भी सभी जिलाधिकारियों द्वारा सुनिश्चित की जाय। 

नियमित हो सफाई, ताकि न हो फिसलन

उन्होंने कहा कि वर्षा ऋतु तथा कांवड़ियों द्वारा कलश से जलाभिषेक किये जाने के कारण मार्गो एवं मंदिर की सीढ़ियों व शिवलिंग के आसपास फिसलन की सम्भावना बढ़ जाती है इसके लिए इसकी नियमित सफाई होती रहे इसका भी विशेष ध्यान दिया जाय। मुख्य सचिव ने कहा कि कांवड़ यात्रा मार्ग तथा मेला क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में पेयजल की व्यवस्था, साफ सुलभ शौचालय, चिकित्सा केन्द्रों पर पर्याप्त दवाईयों की व्यवस्था तथा पूर्ण मात्रा में फस्टऐड किट, श्रद्वालुओं के लिए टीन शेड विश्राम स्थल, क्षतिग्रस्त विद्युत तार व पूर्ण प्रकाश की व्यवस्था व निर्वाध विद्युत आपूर्ति, पार्किंग की सकुशल व्यवस्था आदि समय पर पूर्ण कर लिये जाय। 

जगह-जगह सहयता केंद्र स्थापित किये जायें

उन्होंने यह भी कहा कि कांवड़ यात्रा के मार्गो पर श्रद्वालुओं के लिए भक्तों द्वारा भण्डारें, पेयजल, फूड स्टाल आदि के इंतजाम होते हैं, इसमें यह सुनिश्चित कर लिया जाय कि किसी भी प्रकार का भण्डारा, फूड स्टाल आदि मार्गो पर न लगाये जाय तथा हाईवे व पैदल मार्ग से निर्धारित उचित दूरी पर ही लगे ऐसा सुनिश्चित किया जाय तथा निराश्रित गौवंश पर भी विशेष ध्यान देते हुये उनको निराश्रित आश्रय स्थलों में पहुंचाये जिससे श्रद्वालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या न होने पायें। श्रद्वालुओं की सुविधा के लिए जगह-जगह पर सहायता केन्द्र, अस्थायी उपचार केन्द्र तथा मेला कन्ट्रोल रूम के नम्बर के प्रदर्शन का व्यापक व्यवस्था की जाय।  

पुलिस कर्मियों द्वारा श्रद्वालुओं से विनम्रता पूर्वक व्यवहार किया जाय:प्रशांत कुमार

पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करते हुये कहा कि सर्वप्रथम पुलिस कर्मियों द्वारा श्रद्वालुओं से विनम्रता पूर्वक व्यवहार किया जाय। इसके साथ ही सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में तथा आवश्यकतानुसार सीसीटीवी कैमरे लगवाकर सम्पूर्ण मेला क्षेत्र की निगरानी करें तथा भीड़ को नियंत्रण करने के लिए बैरीकेटिंग आदि का प्रयोग करें। उन्होंने यह भी कहा कि श्रावण झूला मेला एवं कांवड़ यात्रा के दौरान श्रद्वालुओं द्वारा सरयू नदी में स्नान कर जलाभिषेक किया जाता है, इसके लिए सरयू नदी में निर्धारित स्नान स्थलों पर ही स्नान करने दिया जाय तथा जल बैरिकेटिंग लगाकर श्रद्वालुओं की सुरक्षा की जाय और मौके पर गोताखोर, जल सुरक्षा कर्मी व स्टीमर की पर्याप्त व्यवस्था रहें। अधिकारीद्वय ने यह भी निर्देश दिये कि जिला प्रशासन एवं पुलिस विभाग आपसी समन्वय करते हुये कांवड़ यात्रा/श्रावण मेला के पूर्व सभी स्थलों का 2-3 बार स्थलीय निरीक्षण स्वयं करें तथा अन्य नामित मजिस्ट्रेटों की नियमित समीक्षा करते हुये तैयारियों का जायजा लें तथा डायवर्जन प्लान को समय से लागू करने व पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था समय से पूर्ण करें। 

समीक्षा बैठक में मण्डलायुक्त अयोध्या गौरव दयाल, मण्डलायुक्त देवीपाटन शशिभूषण लाल सुशील, मण्डलायुक्त बस्ती अखिलेश सिंह, पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण कुमार, जिलाधिकारी अयोध्या नितीश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर, अपर आयुक्त प्रशासन अजय कान्त सैनी सहित सम्बंधित विभागों के मण्डल एवं जिला स्तर के अधिकारी उपस्थित रहे तथा देवीपाटन, बस्ती व अयोध्या मण्डल के जिलाधिकारीगण व पुलिस अधीक्षक गणों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की।

श्रीरामलला का किया दर्शन-पूजन

मुख्य सचिव ने राम की पैड़ी, सरयू आरती स्थल, नयाघाट, जलवानपुरा में जलभराव की स्थिति का जायजा लेते हुये अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिये। तत्पश्चात हनुमानगढ़ी पहुंचे जहां उन्होंने दर्शन पूजन किया तथा स्थलीय निरीक्षण किया। इसके बाद मणि पर्वत पहुंचकर मेला क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण किया। इसके लिए श्रीरामलला मंदिर पहुंचकर दर्शन पूजन किया व श्रीराम जन्मभूमि परिसर में चल रहे निर्माण कार्यो का भी निरीक्षण किया तथा तीर्थ क्षेत्र न्यास ट्रस्ट के पदाधिकारियों के साथ चर्चा की। 

PTC NETWORK
© 2024 PTC News Uttar Pradesh. All Rights Reserved.
Powered by PTC Network